Mausam Shayari in Hindi | मौसम शायरी और स्टेटस – Mad Best Shayari


Ae Barish Zara Tham Ke Baras,
Jab Mere Yaar Aa Jaye To Jam Ke Baras,
Pehle Na Baras Ki Woh Aa Na Sake,
Phir Itna Baras Ki Woh Jaa Na Sake !!


चलो आज खामोश प्यार को इक नाम दे दें,
अपनी मुहब्बत को इक प्यारा सा अंज़ाम दे दें,
इससे पहले की कहीं रूठ न जाएँ मौसम,
अपने धड़कते हुए अरमानों को एक सुरमई शाम दे दें !!

Best and Latest Mausam Shayari

Durr tak chaye the badal aur kahi saya na tha,
Is tarah barsat ka mausam kabhi aaya na tha !!


आज मौसम कितना खुश गंवार हो गया
ख़त्म सभी का इंतज़ार हो गया
बारिश की बूंदे गिरी इस तरह से
लगा जैसे आसमान को ज़मीन से प्यार हो गया !!

Heart Touching Mausam Shayari on Love

Mausam Badal Raha Hai Shayari
मौसम पर शेर

अपने किरदार को मौसम से बचाए रखना
लौट कर फूलों में वापस नहीं आती खुशबू !!


Baarish Ka Yeh Mausam Kuchh Yaad Dilata Hai,
Kisi Ke Saath Hone Ka Ehsaas Dilata Hai,
Fiza Bhi Sard Hai Yaadein Bhi Taaza Hai,
Yeh Mausam Kisi Ka Pyaar Dil Mein Jagata Hai !!


शाम है बरसात है और मौसम खुशनुमा है
अब तो बता दे मेरे दिल में बसने वाले तू कहां है !!


Barfeeli Chattan Par Ped Khada Muskaye;
Sara Mausam Sard Hai Jism Aag Barsaye !!

2 line Mausam Shayari For Love

तब्दीली जब भी आती है मौसम की अदाओ मे
किसी का यूं बदल जाना याद आता है !!


आपकी आंखें और ये मौसम
दोनों रंगीन है
समझ नहीं आ रहा,
ख़ामोश रहूं या तारीफ़ करू
जुर्म तो दोनों संगीन है !!


मेरे पास से उठ कर वो उस का जाना
सारी कैफ़ियत है गुज़रते मौसम सी !!

Mausam Badal Raha Hai Shayari

Mausam Sad Shayari
Sad Mausam Shayari for Girlfriend

बदलना आता नहीं हमें मौसम की तरह,
हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं,
ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक,
कसम तुम्हारी तुम्हें इतना प्यार करते हैं !!


Jab jab mausam khubsurat ho jata hai,
Dil humara tumhari yaadon mein kho jata hai,
Baar baar tumhara khayal is tarha aata hai
Ki aankhen band karte hi didar tumhara ho jata hai !!


हमें क्या पता था मौसम ऐसे रो पड़ेगा,
हमने तो आसमान को
बस अपनी दास्तां सुनाई थी !!

Two Line Sad Mausam Shayari for Love

Mausam Ko Mausam Ke Baharon Ne Luta,
Kashti Ko Saahil Ke Kinaron Ne Luta
Tum To Darr Gaye Ek Hi Kasam Se,
Humein To Tumhari Kasam De Kar Hazaron Ne Luta !!


जो आना चाहो हज़ारों रास्ते
न आना चाहो तो हज़ारों बहाने।
मिज़ाज-ऐ-बरहम , मुश्किल रास्ता
बरसती बारिश और ख़राब मौसम !!


मैंने उससे एक बार पूछा क्या धुप में बारिश होती है
और वो तो हसने लगी हस्ते हस्ते रोने लगी
और धुप में बारिश होने लगी !!

Mausam Par Shayari

क्यों आग सी लगा के गुमसुम है चाँदनी,
सोने भी नहीं देता मौसम का ये इशारा !!


You may also like :

Heart Touching Rahat Indori Shayari

Famous Gulzar Shayari

7 Comments

Leave a Reply