खामोशी शायरी Image | Khamoshi Shayari in Hindi – Mad Best Shayari

खामोशी शायरी :- दोस्तो हम सब जनता है कि हम अपने मन कि हर बात को बोल के नहीं बया कर सकते हैं तब अक्सर लोग खामोश हो जाया करते हैं। और जब इंसान खामोश रहते हैं तो वो सबसे ज्यादा अपने आप से ही बात करते हैं और अपने मन की जज्बातों को समझने की कोशिश करते हैं।

खामोशी में लोगो के बड़े से बड़े राज चुप रहते हैं जैसे की मन का दर्द, दिल की खुशी, किसी से नाराजगी, किसी से अपनापन या किसी खास का इंतजार। तो ऐसे ही कुछ बेहतरीन खामोशी शायरी का संग्रह आज हम आपके लिए लेकर आए हैं। आप इसे पढ़े और अपने मन की मन की बात को समझने की कोशिश करें।

Khamoshi Dard Bhari Shayari

खामोशी शायरी Image
Shayari on Khamoshi

मैं खुश हूं अपनी खामोशी के साथ,
मैं अब खुश हूं अपनी तनहाई के साथ,
मैं खुश हूं अपनी मोहब्बत के साथ,
और मैं खुश हूं अपनी इस बरबादी के साथ !!


किताब सी शख्सियत दे ऐ मेरे खुदा
सब कुछ कह दूँ खामोश रहकर !!


ख़ामोशी में भी मुझे तुम सुनाई देते हो,
आँखें बन्द करता हूँ तुम दिखाई देते हो,
खैर तुम्हे कहा समझ आएगा मतलब इसका
तुम तो हर रोज़ नये आशिक के साथ दिखाई देते हो !!


एक आरज़ू सी दिल मैं अक्सर छुपाये फिरता हूँ,
प्यार करता हूँ तुझ से, पर कहने से डरता हूँ,
नाराज़ ना हो जाओ कहीं मेरी गुस्ताखी से तुम,
इसलिए ख़ामोशी से, तेरी धड़कन सुना करता हूँ !!


तू बारिश की तरह अपनी खामोशी बरसा,
हम भी सुखी मिट्टी की तरह महकते जाएंगे !!


मेरी खामोशियों में भी फसाना ढूंढ लेती है,
बड़ी शातिर है ये दुनिया बहाना ढूंढ लेती है,
हकीकत जिद किये बैठी है चकनाचूर करने को,
मगर हर आंख फिर सपना सुहाना ढूंढ लेती है !!

Khamoshi Shayari Sad Image

Khamoshi Dard Bhari Shayari
Khamoshi Shayari in Hindi

जब कोई बाहर से खामोश होता है,
तो उसके अंदर बहुत ज्यादा शोर होता हैं !!


रात गम सुम है मगर खामोश नहीं,
कैसे कह दूँ आज फिर होश नहीं,
ऐसे डूबा हूँ तेरी आँखों की गहराई में
हाथ में जाम है मगर पीने का होश नहीं !!


मेरी जिंदगी में मेरे दोस्तों ने मुझको खूब हँसाया,
घर की जरूरतों ने मेरे चेहरे पर सिर्फ खामोशी ही लाया !!


हर जगह बैठना इंतज़ार नहीं होता,
किसी की ख़ामोशी का मतलब इंकार नहीं होता,
नज़रें तो हर एक से मिलती हैं,
हर नज़र का मिलना प्यार नहीं होता !!

2 Comments

Leave a Reply